टक टकी - Tak Taki (Pratibha Singh Baghel, Manikarnika)

Encrypting your link and protect the link from viruses, malware, thief, etc! Made your link safe to visit. Just Wait...

Movie/Album: मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झाँसी (2019)
Music By: शंकर-एहसान-लॉय
Lyrics By: प्रसून जोशी
Performed By: प्रतिभा सिंह बघेल

हिलमिल गाओ, मिलजुल गाओ
मंगल बेला आई रे
अंगना में गूँजे तोतली बोली
सब मिल गाओ बधाई रे
हिलमिल गाओ...

टकटकी निहारूँ रे
टकटकी निहारूँ रे
बाट तकूँ तेरी
रास्ता सवारूँ रे, राह देखूँ तेरी
रिश्ता है मुझसे सच्चा तेरा
फिर भी क्यूँ डर जाए मन ये मेरा
नैन बिछे राह सजी
अब आजा द्वारे पर, अब ना कर देरी
आजा रे
टकटकी निहारूँ रे

हर आहट कान धरूँ, अब आए तब आए
फूलों की हर क्यारी, किलकारी सी गाए
जानती हूँ आएगा तू, खुशियाँ बरसाएगा तू
फिर भी क्यूँ सहमा है ये सवेरा
रिश्ता है मुझसे सच्चा तेरा
फिर भी क्यूँ डर जाए मन ये मेरा
नैन बिछे राह सजी
सूरज के संग क्यूँ है रात अंधेरी
आजा रे

चंदा में छब तेरी मुझको दिख जाए
तेरा ही सन्देसा एक हवा भी लाए
सब कुछ धुला धुला है
आसमाँ खुला खुला है
फिर भी क्यूँ इक बादल डाले है डेरा
रिश्ता है मुझसे सच्चा तेरा
फिर भी क्यूँ डर जाए मन ये मेरा
नैन बिछे राह सजी
हो तुझसे जुड़ी है अब साँसें भी मेरी
आजा रे...

0 Response to "टक टकी - Tak Taki (Pratibha Singh Baghel, Manikarnika)"

Post a Comment