झलक दिखला जा - Jhalak Dikhla Ja (Himesh Reshammiya, Aksar)

Encrypting your link and protect the link from viruses, malware, thief, etc! Made your link safe to visit. Just Wait...

Movie/Album: अक्सर (2006)
Music By: हिमेश रेशमिया
Lyrics By: समीर
Performed By: हिमेश रेशमिया

झलक दिखला जा
झलक दिखला जा
झलक दिखला जा
झलक दिखला जा
एक बार आजा आजा
आजा आजा आजा
एक बार आजा...

दीदार को तरसे अखियाँ
न दिन गुज़रे न कटे रतियाँ
दीदार को तरसे अँखियाँ
न दिन गुज़रे न कटे रतियाँ
झलक दिखला जा...

करता रहता हूँ मैं, बस तेरी ही बातें
अक्सर याद आती हैं, तेरी मुलाक़ातें
तेरे इश्क को पाना, मेरा पागलपन है
तेरे एहसासों में, डूबी हर धड़कन है
झलक दिखला जा...

ज़र्रे ज़र्रे से मैं, तेरी आहट सुनता हूँ
तेरे ही ख़्वाबों की, झालर मैं बुनता हूँ
चाहत की गहराई, क्यूँ तू ना पहचाने
मेरी बेताबी का, आलम तू न जाने
झलक दिखला जा...

0 Response to "झलक दिखला जा - Jhalak Dikhla Ja (Himesh Reshammiya, Aksar)"

Post a Comment